Tripura CM Biplab Kumar Deb Says Targeted HIV Testing In Colleges Of Agartala If Necessary | HIV के बढ़ते मामलों के बीज त्रिपुरा के CM बिप्लब कुमार देब बोले

0
26

Tripura CM Biplab Kumar Deb On HIV Testing: त्रिपुरा के मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब ने HIV पॉजिटिव मामलों में चिंताजनक वृद्धि को देखते हुए स्वास्थ्य और परिवार कल्याण विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों को अगरतला शहर के कॉलेजों में लक्षित परीक्षण करने का बुधवार को निर्देश दिया. सीएम देब ने कहा, “मैंने राज्य एड्स नियंत्रण सोसायटी द्वारा प्रस्तुत आंकड़ों का अधिकारियों के साथ पुन: सत्यापन किया है और जिस पैटर्न में मामले बढ़ रहे हैं, वह गहरी चिंता का विषय है.”

सीएम देब ने कहा, “स्वास्थ्य और परिवार कल्याण विभाग अगर जरूरी समझे तो कॉलेजों के प्रत्येक छात्र का परीक्षण करे. दुर्भाग्य से, राज्य के सबसे प्रतिष्ठित कॉलेज में अधिक संख्या में मामले सामने आ रहे हैं.” उन्होंने कहा कि “दवाओं के मार्गों की पहचान की जानी चाहिए. जरूरत पड़ने पर पुलिस से सहयोग मांगा जा सकता है.

‘हर दिन अगरतला में 2-3 मरीज पॉजिटिव पाए जाते हैं’

देब के अनुसार, ‘नशीली दवाओं के दुरुपयोग में वृद्धि एक नकारात्मक मानसिकता का परिणाम है जो पिछले 40 से 45 वर्षों से राज्य में पनपी है.’ उन्होंने कहा, “हर दिन जीबीपी अस्पताल, अगरतला में 2-3 मरीज पॉजिटिव पाए जाते हैं और कॉलेज के छात्रों में इसका प्रचलन अधिक है. उन्होंने कहा कि ये आंकड़े एक खतरनाक भविष्य की ओर इशारा कर रहे हैं.

सीएम देब ने कहा, “हमें स्थिति को नियंत्रित करने के लिए तत्काल कदम उठाने चाहिए और त्रिपुरा को भूमि से एचआईवी को पूरी तरह से खत्म करने के लिए वन टू वन जागरूकता अभियान शुरू करना चाहिए. त्रिपुरा में “ड्रग्स के लिए कोई जगह नहीं, एचआईवी के लिए कोई जगह नहीं” का नारा देते हुए देब ने महिलाओं से ड्रग्स के खिलाफ लड़ाई लड़ने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने के लिए कहा.

त्रिपुरा में HIV AIDS के कुल 2,459 केस

त्रिपुरा राज्य AIDS नियंत्रण समिति द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, त्रिपुरा में एचआईवी के कुल 2,459 केस हैं, जिनमें 750 महिलाएं और 1709 पुरुष मरीज शामिल हैं. वहीं, पिछले 20 वर्षों में एचआईवी के कारण कुल 640 रोगियों की मृत्यु हुई. यहां नॉर्थ त्रिपुरा जिले में सबसे ज्यादा 594 एचआईवी केस हैं.

यह भी पढ़ें-
Booster Dose: सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया ने बूस्टर डोज़ के लिए DCGI से मांगी मंज़ूरी
Omicron: ‘एट रिस्क’ देशों से आए 3476 यात्रियों में से 6 में कोरोना की पुष्टि, जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए भेजे गए सैंपल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here