Police have demoralized Naxalites by opening camp in their den: Baghel | पुलिस ने माओवादियों की मांद में शिविर खोलकर उनके हौसले पस्त कर दिए हैं: बघेल

0
3

Naxalites, Maoists, Maoists Naxalites, Naxalites Baghel, Bhupesh Baghel- India TV Hindi
Image Source : PTI FILE
छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि माओवाद प्रभावित क्षेत्रों में पुलिस शिविर खुलने से चरमपंथियों का हौसला पस्त हुआ है।

Highlights

  • मुख्यमंत्री बघेल ने रायपुर के पुलिस परेड मैदान में पुलिस जवानों के साथ नये साल के कार्यक्रम में हिस्सा लिया।
  • माओवादी समस्या केवल कानून-व्यवस्था का मामला नहीं है बल्कि यह राजनीतिक और सामाजिक समस्या भी है: बघेल
  • बघेल ने कहा, ‘राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को अपशब्द कहने वाले को हमारी पुलिस तत्काल पकड़कर ले आयी।

रायपुर: छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि माओवाद प्रभावित क्षेत्रों में पुलिस शिविर खुलने से चरमपंथियों का हौसला पस्त हुआ है और क्षेत्र के लोगों को भरोसा हुआ है कि पुलिस उनकी दोस्त है। राज्य के जनसंपर्क विभाग के अधिकारियों ने शनिवार को बताया कि मुख्यमंत्री बघेल ने शनिवार को रायपुर के पुलिस परेड मैदान में पुलिस जवानों के साथ नये साल के कार्यक्रम में हिस्सा लिया। इस अवसर पर उन्होंने राज्य पुलिस और अर्धसैनिक बल के जवानों को शुभकामनाएं दी।

‘नक्सल क्षेत्र में हमारी पुलिस बेहतरीन काम कर रही है’

मुख्यमंत्री ने जवानों से कहा, ‘मुझे संतोष है कि माओवाद क्षेत्र में हमारी पुलिस बेहतरीन काम कर रही है। माओवादी समस्या केवल कानून-व्यवस्था का मामला नहीं है बल्कि यह राजनीतिक और सामाजिक समस्या भी है। हम माओवादियों की मांद में जाकर शिविर खोल रहे हैं। अब माओवादियों के हौसले पस्त होने लगे हैं। माओवाद प्रभावित क्षेत्र के वनवासी पुलिस को अपना मित्र मानते हैं। पुलिस शिविरों से बाहर निकलकर लोगों से घुल-मिल रही है। ग्रामीणों की मदद कर रही है। इसलिए वहां नागरिकों को विश्वास होने लगा है कि पुलिस उनकी सुरक्षा के लिए है।’

‘बस्तर का अधिकांश हिस्सा नक्सलियों से मुक्त हो चुका है’
बघेल ने कहा, ‘बस्तर का अधिकांश हिस्सा माओवादियों से मुक्त हो चुका है। वहां सड़क, पुल, पुलिया और अन्य विकास कार्य होने से लोगों को आवागमन की भी सुविधा हो गयी है।’ अधिकारियों ने बताया कि मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम में दंतेश्वरी फाईटर्स की कमांडो से उनका अनुभव भी पूछा। डीएसपी आशारानी ने बताया, ‘पुलिस लोगों को विश्वास में लेकर काम कर रही है। उनके सुख-दुख में हम साथ देते हैं। इसलिए लोग शिविरों का विरोध नहीं कर रहे।’ मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम में कहा कि छत्तीसगढ़ पुलिस के जवानों की पूरे देश में प्रशंसा हो रही है।

‘केंद्र से छत्तीसगढ़ पुलिस को लगातार पुरस्कार प्राप्त हो रहे हैं’
बघेल ने कहा, ‘राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को अपशब्द कहने वाले को हमारी पुलिस तत्काल पकड़कर ले आयी। भारत सरकार से भी छत्तीसगढ़ पुलिस को लगातार पुरस्कार प्राप्त हो रहे हैं। अभी हाल ही में NCRB ने छत्तीसगढ़ पुलिस को बेहतर कार्य के लिये देश में दूसरा स्थान दिया है।’ अधिकारियों ने बताया कि इस दौरान सीएम ने महिला सुरक्षा के लिए ‘अभिव्यक्ति’ ऐप लॉन्च किया। इसके माध्यम से महिलाएं आपात स्थिति में पुलिस की तत्काल मदद ले सकेंगी। उन्होंने बताया कि कार्यक्रम में गृह मंत्री ताम्रध्वज साहू और वरिष्ठ पुलिस अधिकारी भी मौजूद थे। (भाषा)

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here