Omicron Risk Very High WHO Warns Of Severe Consequences

0
33

All you need to know about Omicron: कोविड-19 के नए वैरिएंट Omicron को लेकर दुनिया में अफरा-तफरी का माहौल है. विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने सोमवार को कहा कि कोविड का नया Omicron वैरिएंट बेहद खतरनाक है और इसके बेहद गंभीर परिणाम हो सकते हैं. इसके बारे में अभी कोई भी प्रारंभिक जानकारी न होने के कारण यह पता लगाना बेहद कठिन है कि यह कितना संक्रामक और खतरनाक है. 

वायरस मिलने के बाद से घटनाक्रम में हुए बदलाव की रिपोर्ट जाने 10 प्वाइंट्स में

  1.  डब्ल्यूएचओ के मुताबिक, Omicron वैरिएंट के अंतरराष्ट्रीय स्तर पर फैलने की संभावना है, उसने सभी देशों से टीकाकरण में तेजी लाने और आवश्यक स्वास्थ्य सेवाओं को बढाने के लिए कहा है. 
  2.   डब्ल्यूएचओ के अनुसार, Omicron स्पाइक प्रोटीन में  नंबर ऑफ म्यूटेशन की संख्या बहुत ज्यादा है. जिसके कारण यह महामारी को और विकराल स्वरुप में ले जाने की क्षमता रखता है.
  3.  विशेषज्ञों का मानना है, हाई म्युटेशन के कारण यह आबादी के एक बडे क्षेत्र को संक्रमित कर सकने में सक्षम है. हालांकि बढे हुए संक्रमण बढी हुई मौतों की ओर इंगित नहीं करता है. अभी तक इस वायरस के कारण कोई भी मौत रिपोर्ट नहीं हुई है. 
  4.  डब्ल्यूएचओ ने कहा,  कोविड-19 से जुडी जानकारी हमारे पास उपलब्ध है पर चिंता की बात यह है कि हमारे पास कोविड के नए वैरिएंट के बारे में कोई जानकारी उपलब्ध नहीं है. इस वैरिएंट के बारे में अभी और रिसर्च की आवश्यकता है. खासकर इसके टीकों और पिछले संक्रमण से शरीर में पैदा हुई इम्युनिटी से खुद को बचाकर जीवित रखने के संबंध में अभी हमें और रिसर्च करने की जरुरत है. 
  5.  डब्ल्यूएचओ ने शुक्रवार को Omicron को “Virous Of Concern” घोषित किया था.  क्योंकि यह स्ट्रेन खुद को डेल्टा और अपने अन्य तुलनात्मक कमजोर प्रतिद्वंद्वियों अल्फा, बीटा और गामा के मुकाबले सब से अधिक खतरनाक श्रेणी में पाया जाता है. 
  6.  डब्ल्यूएचओ का मानना है कि आने वाले दिनों और हफ्तों में Omicron पर महत्वपूर्ण आंकड़े आने की उम्मीद है. इसके साथ ही यह टीका लगाए गए लोगों को भी प्रभावित कर सकता है.  विशेषज्ञों के अनुसार टीकाकरण हो रखे व्यक्तियों में भी कोविड-19 का कुछ अंश छोटे अनुपात में मिल सकता है.
  7.  पहली बार दक्षिण अफ्रीका में पाए जाने वाले Omicron वैरिएंट की पहचान कम से कम 12 अन्य देशों में भी की गई है. बोत्सवाना, इटली, हांगकांग, ऑस्ट्रेलिया, बेल्जियम, यूनाइटेड किंगडम, डेनमार्क, जर्मनी, कनाडा, इज़राइल और चेक गणराज्य में इसके मामले सामने आए हैं.
  8.  कई देशों ने पहले ही दक्षिण अफ्रीका और उसके पड़ोसी देशों से आने-जाने वाली उड़ानों पर यात्रा प्रतिबंध लगा दिए हैं.
  9.  वहीं जापान, इज़राइल और मोरक्को ने किसी भी प्रकार के विदेशी यात्रियों के अपने देश में प्रवेश पर रोक लगा दी है. ऑस्ट्रेलिया का कहना है कि वह दिसंबर से कुशल प्रवासियों और छात्रों के लिए सीमाओं को फिर से खोलने की योजना की समीक्षा करेगा.
  10.  भारत उन सभी देशों से आने वालों के लिए ऑन-अराइवल टेस्टिंग को अनिवार्य बनाएगा जहां ‘ओमाइक्रोन’ पाया गया है. भारत आने वाले प्रत्येक अंतरराष्ट्रीय यात्री को एक सेल्फ डिक्लेरशन फार्म भरना होगा और एक नेगेटिव आरटी-पीसीआर टेस्ट रिपोर्ट दिखानी होगी. यदि इन दोनों में से कोई भी शर्त पूरी नहीं होती है तो वे भारत में प्रवेश नहीं कर सकते है. 

Omicron variant: कोरोना के नए वेरिएंट ने भारत में बढ़ाया डर, रोकथाम के लिए दिल्ली-महाराष्ट्र समेत 6 राज्यों ने जारी किए जरूरी दिशा-निर्देश

Omicron Variant: कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रोन ने बढ़ाई टेंशन, जानें क्या हैं इसके लक्षण और कैसे होती है जांच

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here