IND vs SA team india lost test match after 20 years at the wanderers ground kl Rahul virat kohli

0
4

जोहानिसबर्ग. टीम इंडिया (Team India) को दूसरे टेस्ट में 7 विकेट से हार मिली. इसके साथ जोहानिसबर्ग के वांडरर्स मैदान पर टीम का 20 साल का टेस्ट में अजेय रिकॉर्ड भी टूट गया. साउथ अफ्रीका ने 240 रन के लक्ष्य को (India vs South Africa) 3 विकेट पर हासिल कर लिया. इसके साथ तीन मैचों की सीरीज 1-1 से बराबर हो गई है. यह मैच सिर्फ 4 दिन में खत्म हो गया है. सीरीज का तीसरा और अंतिम मुकाबला 11 जनवरी से केपटाउन में खेला जाएगा. मैच में विराट कोहली (Virat Kohli) उतर सकते हैं. चोट के कारण वे दूसरे टेस्ट में नहीं खेले थे. उनकी जगह केएल राहुल (KL Rahul) कप्तानी कर रहे थे.

टीम इंडिया ने मैदान पर पहला टेस्ट 20 साल पहले नवंबर 1992 में खेला था. मोहम्मद अजहरुद्दीन की कप्तानी में खेला गया यह मैच ड्रॉ रहा था. टीम की ओर से पहली पारी में सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) ने 111 रन की शानदार पारी खेली थी. इस कारण टीम 227 रन के स्कोर तक पहुंच सकी थी. साउथ अफ्रीका ने पहली पारी में 292 और दूसरी पारी में 252 रन बनाए थे. इस तरह से भारत को 318 रन का लक्ष्य मिला था. जवाब में टीम ने दूसरी पारी में 4 विकेट पर 141 रन बनाए थे.
https://www.youtube.com/watch?v=c0dLrgAPuR4

द्रविड़ और गांगुली ने खेली शानदार पारी

जनवरी 1997 में सचिन तेंदुलकर की कप्तानी में मैदान पर खेला गया दूसरा टेस्ट भी ड्रॉ रहा था. राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) ने पहली पारी में 148 रन की शतकीय पारी खेली थी. सौरव गांगुली ने भी 73 रन बनाए थे. द्रविड़ ने दूसरी पारी में 81 और गांगुली ने 60 रन बनाए थे. 356 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए मेजबान साउथ अफ्रीका की टीम ने 228 रन पर 8 विकेट गंवा दिए थे. यह मुकाबला काफी नजदीकी रहा था. डेरिल कलिनन ने नाबाद 122 रन बनाकर टीम की हार टाली थी.

द्रविड़ की कप्तानी में मिली पहली जीत

टीम इंडिया को वांडरर्स मैदान पर पहली जीत राहुल द्रविड़ की कप्तानी में दिसंबर 2006 में मिली थी. टॉस जीतकर पहले खेलते हुए भाारतीय टीम पहली पारी में सिर्फ 249 रन बना सकी थी. सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) ने सबसे अधिक 51 रन बनाए. जवाब में साउथ अफ्रीका की टीम पहली पारी में सिर्फ 84 रन बना सकी. तेज गेंदबाज एस श्रीसंत ने 5 विकेट झटके. वीवीएस लक्ष्मण के 73 रन के दम पर भारत ने दूसरी पारी में 236 रन का स्कोर बनाया. 402 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए मेजबान टीम दूसरी पारी में 278 रन पर आउट हो गई. इस तरह से भारत ने यह मुकाबला 123 रन से जीता था. श्रीसंत ने दूसरी पारी में भी 3 विकेट झटके थे और प्लेयर ऑफ द मैच रहे.

धोनी ने ड्रॉ कराया, जीत सिर्फ 8 रन दूर थी

एमएस धोनी (Ms Dhoni) के नेतृत्व में टीम दिसंबर 2013 में एक बार फिर मैदान पर टेस्ट मैच खेलने उतरी. पहली पारी में बढ़त भी हासिल की. लेकिन अंत में यह रोमांचक मुकाबला ड्रॉ रहा. भारत ने पहली पारी में 280 रन बनाए. विराट कोहली ने 119 रन बनाए. जवाब में साउथ अफ्रीका की टीम 244 रन ही बना सकी. जहीर खान और इशांत शर्मा ने 4-4 विकेट लिए. भारत ने दूसरी पारी में 421 रन का बड़ा स्कोर बनाया. चेतेश्वर पुजारा ने 153 और कोहली ने 96 रन बनाए. इस तरह से साउथ अफ्रीका को 458 रन का टारगेट मिला. उसने 7 विकेट पर 450 रन बना लिए थे. यानी टीम जीत से सिर्फ 8 रन दूर थी. फाफ डुप्लेसी और एबी डिविलियर्स ने शानदार शतक लगाए थे.

यह भी पढ़ें: IND vs SA: केएल राहुल एक बार फिर साबित हुए चोकर कप्तान, टी20 के बाद टेस्ट में भी फेल

कोहली की कप्तानी में मिली रोमांचक जीत

विराट कोहली की कप्तानी में टीम ने जनवरी 2018 में मैदान पर खेले गए टेस्ट में साउथ अफ्रीका को रोमांचक मुकाबले में 63 रन से मात दी थी. भारत ने पहली पारी में 187 रन बनाए. कोहली ने 54 और पुजारा ने 50 रन बनाए. भुवनेश्वर कुमार ने भी 30 रन का याेगदान दिया. जवाब में साउथ अफ्रीका की टीम 194 रन पर सिमट गई. बुमराह ने 5 और भुवनेश्वर ने 3 विकेट झटके. भारत ने दूसरी पारी में 247 रन बनाए. रहाणे ने 48, कोहली ने 41 और भुवनेश्वर ने 33 रन बनाए. 241 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए मेजबान टीम सिर्फ 177 रन ही बना सकी. मोहम्मद शमी ने 5 विकेट झटके.

Tags: Cricket news, Ind vs sa, India vs South Africa, KL Rahul, Mohammad azharuddin, Ms dhoni, Rahul Dravid, Sachin tendulkar, Team india, Virat Kohli

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here