IND SA 2nd Test Shardul Thakur after claiming 7 wickets said It is my best figure but the best is yet to come – IND vs SA: शार्दुल ठाकुर 7 विकेट लेने के बाद भी खुश नहीं, बताया

0
5

नई दिल्ली. भारत औऱ दक्षिण अफ्रीका के बीच जोहानिसबर्ग टेस्ट के दूसरे दिन शार्दुल ठाकुर ने शानदार गेंदबाजी की. उन्होंने 7 विकेट लेकर मैच में बैकफुट पर नजर आ रही टीम इंडिया की वापसी करा दी. शार्दुल ने धारदार गेंदबाजी की बदौलत मेजबान टीम भारत के 202 रन के जवाब में पहली पारी में 229 रन पर ढेर हो गई. दक्षिण अफ्रीका को सिर्फ 27 रन की बढ़त मिली. यह बढ़त और ज्यादा हो सकती थी अगर शार्दुल अहम मौकों पर विकेट नहीं निकालते.

दूसरे दिन का खेल खत्म होने के बाद शार्दुल ठाकुर (Shardul Thakur) ने जोहानिसबर्ग टेस्ट में अपने प्रदर्शन, मैच में भारत की स्थिति पर बात की. उन्होंने कहा, “अभी भी इस टेस्ट में किसी एक टीम का पलड़ा भारी नहीं है. विकेट पर किसी भी बल्लेबाज के लिए टिके रहना हर गेंद के साथ मुश्किल होता जा रहा है. मौजूदा स्थिति को देखते हुए आगे क्या होगा, यह कहना मुश्किल है.”

‘टेस्ट में बेस्ट आना बाकी’

इस तेज गेंदबाज ने आगे कहा,”हम यहां से जितना बड़ा लक्ष्य दक्षिण अफ्रीका के सामने खड़ा करें, हमारे लिए वो अच्छा होगा. क्योंकि इस पिच पर आखिरी दो दिन बल्लेबाजी करना आसान नहीं होगा. इसलिए हमारी कोशिश होगी कि बड़ा टारगेट सेट करें.”

शार्दुल ने दूसरे दिन 61 रन देकर 7 विकेट झटके. यह उनका टेस्ट में बेस्ट प्रदर्शन है. हालांकि, वो इससे संतुष्ट नहीं हैं. मुंबई के इस तेज गेंदबाज को लगता है कि वो इससे बेहतर प्रदर्शन कर सकते हैं. उन्होंने कहा कि यकीकन 7/61 मेरा टेस्ट में बेस्ट गेंदबाजी प्रदर्शन है. लेकिन मैं यही कहूंगा कि मेरा बेस्ट अभी आना बाकी है.

मैंने पिच का फायदा उठाने की कोशिश की: शार्दुल
शार्दुल ठाकुर ने बताया कि उन्होंने कैसे दूसरे दिन का पिच का फायदा उठाया? उनके मुताबिक, बैक ऑफ लेंथ से गुड लेंथ एरिया के बीच पिच में एक दरार थी और मैं लगातार पिच के उसी एरिया में गेंदबाजी करता रहा. ताकि दाएं हाथ के बल्लेबाजों को चकमा देने के लिए गेंद अंदर ला सकूं.

IND vs SA: चोट से रफ्तार घटी, लेकिन चालाकी नहीं; जानिए कैसे शार्दुल ठाकुर बल्लेबाजों का कर रहे शिकार?

NZ vs BAN: बांग्लादेश ने रचा इतिहास, वर्ल्ड टेस्ट चैंपियन न्यूजीलैंड की धरती पर पहली बार जीता कोई टेस्ट

इस तेज गेंदबाज ने कहा कि अगर दोनों वेन्यू सेंचुरियन और जोहानिसबर्ग को देखें तो दोनों जगह पिच में गेंदबाजों के लिए कुछ मदद थी. बस, एक गेंदबाज होने के नाते आपको सही लेंथ और एरिया पर गेंदबाजी करनी थी और मैंने जोहानिसबर्ग में लगातार ऐसा ही करने की कोशिश की.

Tags: Cricket news, Ind vs sa, India vs South Africa, KL Rahul, Shardul thakur

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here