Bengal Coal Scam Two Primary Accused Absconded From The Cbi After Primary Interrogation Cbi Issued Arrest Warrantn ANN

0
25


Bengal Coal Scam: बंगाल कोयला घोटाले मे नेताओं की रिश्वत संबधी राज उगलने वाले दो आरोपी सीबीआई की प्रारंभिक पूछताछ के बाद भाग गए हैं. माना जा रहा है कि इन लोगों से हुई पूछताछ मे मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक की बाबत भी अनेक अहम जानकारियां सामने आई थी और सीबीआई अब इन दोनों ही नेताओ से आमने सामने की पूछताछ कराना चाहती थी. सीबीआई इन दोनों के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी कर लगातार छापेमारी कर रही है. साथ ही सीबीआई ने एक बार फिर रूजिरा बनर्जी के खातों को लेकर थाइलैंड प्रशासन से संपर्क साधा है.

ईस्टर्नफील्ड कोल घोटाले की जांच मे सीबीआई की जांच लगातार जारी है और सीबीआई इस मामले मे मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे और टीएमसी के युवा विंग के अध्यक्ष अभिषेक बनर्जी से पूछताछ करने के पहले अपना सारा होमवर्क पूरा करना चाहती है जिससे उसपर किसी तरह के कोई इल्जाम ना लग सके. अपनी इसी कवायद के तहत सीबीआई ने मामले के मास्टरमांइड और कोल घोटाले के मुख्य आरोपी अनूप मांझी के खासमखास सहयोगी नीरज और अमित पर अपना शिकंजा कसा था.

सूत्रों के मुताबिक इनमें नीरज सिंह अनूप मांझी के कहने पर कोलकाता मे नेताओ को दी जाने वाली रकम का हिसाब किताब रखता था जबकि अमित पूरूलिया और बांकुरा मे नेताओ को दी जाने वाली रकम का हिसाब रखता था. सूत्रो ने बताया कि इन दोनो ने सीबीआई से हुई पूछताछ मे अहम तथ्य दिए थे लेकिन सीबीआई जब इनके बयानो के आधार पर आगे बढी तो ये दोनो गायब हो गए.

सूत्रों के मुताबिक इस मामले मे मारे गए छापो के दौरान सीबीआई को कुछ वाट्सएप मैसेज मिले थे जिनसे पता चलता था कि घोटाले से संबंधित रकम नेताओं और नौकरशाहो को दी जा रही है. साथ ही बरामद दस्तावेजों की आरंभिक जांच से यह भी पता चला था कि घोटाले की रकम मुख्यमंत्री ममता के भतीजे अभिषेक के परिजनों तक पहुंची है और उसमे से काफी रकम विदेशों मे भी जमा कराई गई है.

इसी आधार पर सीबीआई ने अभिषेक की पत्नी रूजिरा और उनकी साली मेनका समेत अनेक लोगों से पूछताछ की थी. हालांकि पूछताछ के दौरान इन लोगों ने इस घोटाले से किसी भी तरह का कोई संबंध होने से साफ इंकार कर दिया था. सीबीआई इस मामले मे अभिषेक बनर्जी से भी पूछताछ करना चाहती है क्योंकि अब तक हुई पूछताछ मे कुछ लोगों ने अभिषेक बनर्जी समेत टीएमसी के कुछ और लोगों के नाम लिए है. सीबीआई के एक आला अधिकारी के मुताबिक सीबीआई पूछताछ के पहले तुरूप के पत्ते अपने हाथ मे रखना चाहती है और उन लोगों से भी अभिषेक का सामना कराना चाहती है जिन लोगों ने उसका नाम अपने बयानों मे लिया है.

सूत्रों ने बताया कि सीबीआई ने इस मामले मे एक बार फिर थाईलैंड प्रशासन से संपर्क कर उस खाते की जानकारी जल्द भेजने को कहा है जिसमे 15 लाख की थाईलैंड मुद्रा जमा कराई गई है और सीबीआई को शक है कि ये खाता अभिषेक की पत्नी रूजिरा का है. सीबीआई इस मामले के एक औऱ अहम आरोपी विनय मिश्रा की तलाश में भी इंटरपोल से संपर्क में है क्योकि विनय मिश्रा वह शख्स हैं जो अभिषेक का खासमखास बताया जाता है.
 
विनय पहले से ही देश से फरार है उसने सीबीआई को सशर्त पेश होने की पेशकश की थी जिससे सीबीआई ने इंकार कर दिया था. इस मामले मे सीबीआई के साथ-साथ ईडी भी अपनी जांच को जारी रखे हुए हैं और ईडी का मानना है कि इस घोटाले मे 13 हजार करोड़ की मनी लांड्रिग शामिल है. ईडी अभिषेक से दो बार पूछताछ कर चुका है और उसने भी कुछ जानकारियों को लेकर कुछ विदेशी देशों से संपर्क साधा है.

Delhi Crime: दूसरे धर्म की लड़की से दोस्ती पड़ी महंगी, दिल्ली के रघुबीर नगर में युवक की बेरहमी से हत्या

Rajasthan News: जोधपुर में गुंडे बदमाशों पर होगी सख्त कार्रवाई, पुलिस कमिश्नर ने लागू किया ये फॉर्मूला



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here