Asia is still left out of Omicron havoc, but for how long? Know what data say | ओमिक्रॉन के कहर से अभी बचा हुआ है एशिया, लेकिन कब तक? जानें, क्या कहते हैं आंकड़े

0
3

Omicron, Omicron Asia, Omicron India, Omicron Threat, Omicron Data, Omicron Treatment- India TV Hindi
Image Source : AP REPRESENTATIONAL
एशिया का अधिकांश भाग कोरोना वायरस संक्रमण के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन को दूर रखने में कामयाब रहा है।

Highlights

  • एशिया में, जहां दुनिया की सबसे ज्यादा आबादी है, ओमिक्रॉन के मामलों में वृद्धि देखने को मिल सकती है।
  • डॉ शीगेरु ओमी ने कहा, ‘एक बार जब गति बढ़ जाएगी, तो मामले बहुत तेजी से बढ़ने लगेंगे।’
  • थाईलैंड में 700 मामले हो गए हैं, दक्षिण कोरिया में 500 से अधिक और जापान में 300 से अधिक मामले हैं।

ताइपे: एशिया का अधिकांश भाग कोरोना वायरस संक्रमण के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन को दूर रखने में कामयाब रहा है जबकि दुनिया के अन्य हिस्सों में इसका प्रकोप बढ़ता जा रहा है। हलांकि माना जा रहा है कि एशिया में, जहां दुनिया की सबसे ज्यादा आबादी है, इसके मामलों में वृद्धि देखने को मिल सकती है। विदेशों से आने वालों के लिए पृथकवास के सख्त नियम और बड़े पैमाने पर मास्क लगाने को अनिवार्य करने जैसे नियमों ने कोरोना वायरस के बेहद संक्रामक स्वरूप के प्रसार को धीमा रखने में मदद की है।

कई देशों ने फिर लगाए पृथकवास प्रतिबंध

जापान, दक्षिण कोरिया और थाईलैंड ने हाल के हफ्तों में प्रवेश और पृथकवास प्रतिबंधों को फिर से प्रभावी बना दिया जबकि बीत दिनों ही इनमें राहत दी गई थी। लेकिन मामले बढ़ रहे हैं और विशेषज्ञों का कहना है कि अगले कुछ महीने अहम रहने वाले हैं। जापान सरकार के एक शीर्ष चिकित्सा सलाहकार ने डॉ शीगेरु ओमी ने कहा, ‘एक बार जब गति बढ़ जाएगी, तो मामले बहुत तेजी से बढ़ने लगेंगे।’

भारत में भी डराने लगा है ओमिक्रॉन
इस साल की शुरुआत में विनाशकारी कोविड-19 के प्रकोप के बाद सामान्य हो रहे भारत में 700 से ज्यादा मामलों के साथ ओमिक्रॉन एक बार फिर से भय पैदा कर रहा है। ऑस्ट्रेलिया पहले से ही कोविड-19 के कई मामलों से निपट रहा है जहां एक राज्य के नेता ने बुधवार को कहा कि ‘ओमिक्रॉन बहुत तेज़ी से आगे बढ़ रहा है।’ इसके अलावा, थाईलैंड में 700 मामले हो गए हैं, दक्षिण कोरिया में 500 से अधिक और जापान में 300 से अधिक मामले हैं।

चीन सामने आए ओमिक्रॉन के 8 मामले
चीन, जिसने दुनिया के कुछ सबसे सख्त वायरस नियंत्रण लागू किए हुए हैं, वहां भी कम से कम 8 मामलों की जानकारी है। फिलीपीन में केवल 4 मामले सामने आए हैं, जहां लोग क्रिसमस से पहले शॉपिंग मॉल और एशिया के सबसे बड़े रोमन कैथोलिक राष्ट्र में सामूहिक प्रार्थना के लिए आए। विशेषज्ञों का कहना है कि कुछ अस्पतालों ने कोविड-19 वार्डों को खत्म करना भी शुरू कर दिया है लेकिन यह समय से पहले उठाया गया कदम साबित हो सकता है।

जापान ने भी उठाए कुछ कड़े कदम
जापान को नए वेरिएंट के प्रसार को रोकने में मदद मिली, जिसमें प्रवेश प्रतिबंधों को फिर से लागू करना, सभी आगमनों के लिए अनिवार्य कोविड-19 जांच और एक उड़ान में किसी भी यात्री के ओमिक्रॉन स्वरूप से संक्रमित पाए जाने पर सभी यात्रियों को अलग-थलग करने जैसे कदम शामिल हैं। लेकिन पिछले हफ्ते जब पड़ोसी शहरों ओसाका और क्योटो में पहले स्थानीय रूप से प्रसारित मामलों की पुष्टि हुई तो यह रोकथाम कमजोर पड़ गई।

ताइवान में दी जा रही है टीके की बूस्टर डोज
ताइवान, जहां प्रमुख शहरों में मास्क पहनना अनिवार्य है, ने मॉडर्ना टीके की अतिरिक्त खुराकें देनी आरंभ कर दी है। प्रारंभिक शोध से पता चला है कि फाइजर, एस्ट्राजेनेका और मॉडर्ना टीकों की अतिरिक्त खुराकें ओमिक्रॉन के खिलाफ सुरक्षा कम होने के बावजूद प्रभावी रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here